Breaking News

सर्दी के मौसम के दस्तक देते ही त्वचा संबंधी समस्या पैदा होना एक सामान्य प्रक्रिया है। इस मौसम में वातावरण में तापमान की कमी और तेज हवाएं चलने के कारण त्वचा की खुश्की, रूखेपन एवं त्वचा फटने जैसी समस्याओं से प्राय: हर किसी को रूबरू होना पड़ता है।

सर्द हवाओं के कहर से त्वचा को बचाने के लिए कुछ आसान व असरदार नुस्खों को अपनाएं।

सर्दियों में त्वचा की देखभाल के टिप्स -

सर्दियों में चेहरे की त्‍वचा सबसे ज्‍यादा खुली रहती है तो ऐसे में उस पर हमेशा क्रीम या मॉइस्‍चराइजर लगाए रखें। यदि त्वचा  तैलीय है तो भी केवल माइल्‍ड फेस वॉश का प्रयोग करें। त्‍वचा को स्‍क्रब करती रहें और बाद में सनस्‍क्रीन भी लगाएं।

नहाते समय माइल्ड साबुन का प्रयोग करें। कठोर साबुन के इस्तेमाल से त्वचा शुष्क होने के साथ-साथ फटने भी लगती है।

सर्दी के मौसम में ठंडे पानी से नहाना ज्यादा फायदेमंद रहता है। इससे न केवल ठंड का अहसास कम होता है बल्कि सर्दी-जुकाम के प्रकोप से भी काफी हद बचा जा सकता है। यदि नहाने के लिए ठंडे पानी का इस्तेमाल न कर सकें तो गुनगुना पानी ही लें, ज्यादा गर्म पानी त्वचा को नुकसान पहुंचाता है और गर्म पानी से स्नान करने पर दिन भर ठंड भी ज्यादा लगती है।

नहाने के बाद त्वचा पर कोल्ड क्रीम व मॉइश्चराइजर का उपयोग करें। इससे त्वचा की नमी बनी रहती है और त्वचा को कुछ हद तक ठंड एवं शुष्क हवा के प्रकोप से भी बचाए रखा जा सकता है।

केले और पपीते का फेस पैक लगाए, इससे स्किन टाइट रहेगी और आपका चेहरा भी दमकेगा।

धूप सेंकतें समय सीधे धूप में न बैठे क्योंकि सूर्य की तेज अल्ट्रावायलेट किरणें त्वचा संबंधी समस्याएं और बढ़ा सकती है, इसलिए बेहतर है कि धूप में बैठने से पहले त्वचा पर सन ब्लॉक क्रीम का इस्तेमाल करें।

अगर आपकी त्वचा अधिक रूखी है तो रात को सोने से पहले चेहरे व अन्य भागों पर बादाम या जैतून के तेल की मालिश कीजिए। सर्दियों में भी अच्‍छी मात्रा पानी पीने से होंठो में नमी बरकरार रहती है। इसके साथ ही लिप बाम और पैट्रोलियम जेली का भी प्रयोग करें। लिपस्टिक से जितना हो सके दूरी बनाएं क्‍योंकि यह लिप्‍स को ड्राई कर देती है। आप चाहें तो घी या बटर लगा कर रात में सो सकती है।

अगर आपके चेहरे के साथ-साथ होठ भी फट गए हैं, तो रात को सोने से पहले दूध की मलाई में एक-एक बूंद गुलाबजल व नीबूं के रस को मिलाकर चेहरे व होठो पर मसाज करें। इससे आपकी त्वचा में भी निखार आएगा।

एक अंडे के पीले जर्दी को, संतरे के रस, जैतून के तेल , नींबू के रस और गुलाब जल के साथ मिश्रण बनाकर सुबह नहाने से पहले 15 मिनट के लिए चेहरे पर लगाए फिर गुनगुने पानी से धोएं इससे सर्दियों के दौरान भी आप अपनी त्वचा में निखार पा सकती हैं।

नारियल के तेल से त्वचा की नियमित मालिश करें। इससे शरीर में रक्त का प्रवाह सही तरीके से होता है और त्वचा मुलायम एवं चमकीली बनती है।

मूंग व मसूर की दाल को भिंगोकर उसे पीसकर इसमें दूध मिलाकर इस पेस्ट को सप्ताह में दो या तीन दिन स्नान करने से थोड़ी देर पहले त्वचा पर लगाएं। इससे त्वचा नरम, मुलायम एवं कांतिमय तो बनी ही रहेगी, त्वचा स्वस्थ भी रहेगी। बेसन का उबटन भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

सर्दी के मौसम में होंठ फटने की समस्या से हर किसी को सामना करना पड़ता है। इसके लिये प्रतिदिन स्नान  करने के बाद होठों पर मलाई लगाएं। ऐसा करने से होंठ नरम, मुलायम, चिकने एवं गुलाबी बने रहेंगे।

सर्दियों में पैरों में बिवाईयां फटना भी आम बात है। बिवाईयां फटने की समस्या से निजात पाने के लिये नहाते समय एड़ियों को रगड़-रगड़कर साफ करें और एड़ियों पर कोल्ड क्रीम अथवा जैतून के तेल की नियमित मालिश करें।

मालिश, उबटन और संतुलित आहार के साथ यदि त्वचा के देखभाल के लिए उपरोक्त प्रकृति तरीकों का इस्तेमाल किया जाए तो सर्दियों में भी आप खूबसूरत बनी रह सकती हैं। सर्दियों में सर्द हवाएं त्वचा का तेल और नमी सोख लेती हैं, इस लिए अपनी त्वचा का खास खयाल रखें।