Breaking News

राजस्थान के अलवर में पति के सामने युवती से गैंगरेप और निर्वस्त्र वीडियो वायरल करने की शर्मनाक वारदात के बाद रविवार को चूरू जिले में एक महिला के निर्वस्त्र भटकने का चौंकाने वाला मामला सामने आया. एक महिला यहां बीदासर कस्बे में निर्वस्त्र रोती-बिलखती नजर आई तो लोगों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस पहुंचती इससे पहले ही किसी ने रेंज आईजी डॉ. बीएल मीणा को सूचना दे दी. आईजी ने तत्काल एक्शन लेते हुए पुलिस टीम को मौके पर भेजा. इस दौरान महिला अपने घर से काफी दूर निकल आई थी और रास्ते में कुछ महिलाओं ने उसे रोकने और कपड़े पहनाने की नाकाम कोशिश भी की. हालांकि, पुलिस टीम के पहुंचने पर महिला को कपड़े पहचानए गए और फिर बीदासर पुलिस स्टेशन ले जाया गया. अगली स्लाइड्स में पढ़ें, निर्वस्त्र महिला की पूरी कहानी और पुलिस महकमे में मचे हड़कंप की दास्तां

 

 चूरू में महिला सरिता (परिवर्तित नाम) के निर्वस्त्र रोते-बिलखते मिलने का यह मामला जिले के बीदासर कस्बे का है. यहां सुबह करीब 8 बजे 28 वर्षीय सरिता को कस्बे की पुलिस स्टेशन रोड पर निर्वस्त्र चलते देखा गया. चूरू में महिला सरिता (परिवर्तित नाम) के निर्वस्त्र रोते-बिलखते मिलने का यह मामला जिले के बीदासर कस्बे का है. यहां सुबह करीब 8 बजे 28 वर्षीय सरिता को कस्बे की पुलिस स्टेशन रोड पर निर्वस्त्र चलते देखा गया.

चूरू में महिला सरिता (परिवर्तित नाम) के निर्वस्त्र रोते-बिलखते मिलने का यह मामला जिले के बीदासर कस्बे का है. यहां सुबह करीब 8 बजे 28 वर्षीय सरिता को कस्बे की पुलिस स्टेशन रोड पर निर्वस्त्र चलते देखा गया.

सरिता को कुछ स्थानीय महिलाओं ने रोकने की कोशिश की. कपड़े पहनने का आग्रह भी किया लेकिन उसने किसी की नहीं सुनी. रोते हुए वह पुलिस स्टेशन की ओर बढ़ रही थी.

 इसी दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस और बीकानेर रेंज आईजी डॉ. बीएल मीणा को सूचना दी. पुलिस पहुंचती इससे पहले आईजी ने चूरू एसपी और अन्य अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए. अलवर गैंगरेप केस में पुलिस की लापरवाही सामने आने के बाद इस मामले से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया. इसी दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस और बीकानेर रेंज आईजी डॉ. बीएल मीणा को सूचना दी. पुलिस पहुंचती इससे पहले आईजी ने चूरू एसपी और अन्य अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए. अलवर गैंगरेप केस में पुलिस की लापरवाही सामने आने के बाद इस मामले से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया.

इसी दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस और बीकानेर रेंज आईजी डॉ. बीएल मीणा को सूचना दी. पुलिस पहुंचती इससे पहले आईजी ने चूरू एसपी और अन्य अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए. अलवर गैंगरेप केस में पुलिस की लापरवाही सामने आने के बाद इस मामले से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया.पुलिस की एक टीम इस बीच सरिता तक पहुंच गई. लेकिन उनके साथ महिला कांस्टेबल नहीं थी. ऐसे में निर्वस्त्र सरिता को कपड़े पहनाना और भी मुश्किल भरा था. हालांकि इसका भी हल ढूंढ़ लिया गया.सरिता की जेठानी भी उसके पीछे-पीछे मौके पर पहुंच गई थी. पुलिस ने उसकी और स्थानीय लोगों की मदद से महिला को कपड़े पहनाए (चद्दर लपेटी) और थाने लेकर पहुंचे.पुलिस थाने में पहुंची सरिता और उसके परिजनों से प्रारम्भिक पूछताछ के बाद कई चौंकाने वाली बातें सामने आई. पुलिस ने सरिता के बयानों के आधार पर उसके ससुराल पक्ष पर घरेलू हिंसा, प्रताड़ना और लज्जा भंग की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया.

सरिता के निर्वस्त्र होकर घर से निकलना पुलिस के लिए अब भी पहली बना हुआ था. पूछताछ में सामने आया कि, सरिता का अपनी सास और जेठानी के साथ घरेलू कामकाज और कपड़ों को लेकर विवाद चल रहा था. कई दिनों से सरिता इसी बात से अवसाद में थी और पति की अनुपस्थिति में रविवार सुबह भी सास और जेठानी से कहासुनी हुई. इसके बाद कपड़े उतार कर निर्वस्त्र अवस्था में घर से बाहर निकल गई.मामले में यह भी चौंकाने वाली बात सामने आई की सरिता की शादी वार्ड पांच निवासी युवक से कुछ महीने पहले ही हुई थी. सरिता का पीहर अकोला (महाराष्ट्र) में है और यहां पति के साथ रह रही थी. सरिता को 1.5 लाख रुपए में खरीद कर बीदासर लाया गया था और इसके बाद शादी होना बताया गया.