Breaking News

मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को हराकर रविवार को आईपीएल 12 का खिताब अपने नाम कर लिया. साथ ही चौथी बार आईपीएल का खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई. जीत के बाद सचिन ने मैच के उस मोड़ के बारे में बताया जहां से मैच का रुख बदल गया. सचिन तेंदुलकर को लगता है कि महेंद्र सिंह धोनी का रन आउट होना काफी अहम रहा जबकि माहेला जयवर्धन का मानना है कि कप्तान रोहित शर्मा की शानदार कप्तानी से मुंबई इंडियन्स चैंपियन बनी. मुंबई इंडियन्स ने आईपीएल के रोमांचक फाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स को एक रन से हराया. मुंबई के आइकन खिलाड़ी तेंदुलकर ने मैच के बाद कहा, 'धोनी का रन आउट होना महत्वपूर्ण रहा. लेकिन इसके अलावा बुमराह ने जो महत्वपूर्ण ओवर किये और आखिरी ओवर में मलिंगा ने खेल का शानदार अंत किया.' टीम के मुख्य कोच जयवर्धने ने कहा, 'जब धोनी आउट हुआ तो लगा कि मैच हमारे हाथ में आ गया लेकिन तब शेन वॉटसन ने हिटिंग शुरू कर दी. रोहित ने कुछ शानदार फैसले किये और डेथ ओवरों के लिये अनुभवी गेंदबाजों को रखा.' जसप्रीत बुमराह और राहुल चाहर की कसी हुई गेंदबाजी के बाद लेसिथ मलिंगा के आखिरी ओवर के कमाल से मुंबई इंडियन्स ने उतार चढ़ाव से भरे रोमांचक फाइनल में रविवार को यहां चेन्नई सुपरकिंग्स को 1 रन से हराकर चौथी बार आईपीएल चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया. मुंबई और चेन्नई के बीच यह चौथा फाइनल था जिसमें मुंबई 3 बार चैंपियन बना है. इन दोनों टीमों के बीच हमेशा पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है और इस बार भी यह क्रम जारी रहा. शायद यही सोचकर रोहित शर्मा ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. मुंबई ने इससे पहले 2013, 2015 और 2017 में खिताब जीते थे और इस तरह से उसने एक साल छोड़कर खिताब जीतने का क्रम जारी रखा. उसने 2013 और 2015 के फाइनल में भी चेन्नई को हराया था. रोहित शर्मा ने कप्तान के रूप में चौथा खिताब भी जीता.