Breaking News

तनमय बिस्सा @ जैसलमेर। जन सेवा समिति एवम जिला अंधता निवारण समिति के संयुक्त तत्वावधान में समिति का 151 वां लगातार हर महीने आयोजित होने वाला निःशुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर समिति संरक्षक एवं संस्थापक भंवरलाल बिसानी द्वारा प्रायोजित किया जाएगा। समिति के प्रवक्ता अमृत भूतड़ा ने बताया कि भंवरलाल बिसानी ने पश्चिम राजस्थान के विशाल भूभाग पर स्थित जैसलमेर जिले की भौगोलिक परिस्थितियों को अपने अन्तर्मन से महसूस कर इस केंद्र की स्थापना में मुख्य भूमिका निभाई। समिति अध्यक्ष डॉ.दाऊलाल शर्मा द्वारा सरकारी ड्यूटी में रहते हुए गांव गांव अंधता का दंश झेल रहे हर परिवार के बूढ़े मां-बाप की पीड़ा को समझा उन्होंने चिकित्सा विभाग कीअंधता निवारण समिति के द्वारा की जा रही लक्ष्यों को अपूर्णता को देखते हुए इस क्षेत्र में सेवा करने का संकल्प लिया। इस प्रकार दो जरूरत मन्द के मिलन से "बिसानी नेत्र चिकित्सा केंद्र" की स्थापना का सपना साकार हुआ। संस्था द्वारा हर महीने की निश्चित 25 तारीख को शिविर लगाकर आंखों की विभिन्न बीमारियों का इलाज निःशुल्क किया जाता है। तथा मोतियाबिंद में नेत्र लेंस प्रत्यारोपण तथा लेजर के ऑपरेशन आधुनिक चिकित्सा पद्धति से किये जाते है। संस्था ने पिछले 13 वर्षों में 60,000 से अधिक मरीजों के नेत्र जांच कर लाभ पहुंचाया और लगभग 15000 नेत्रों में लेंस प्रत्यारोपण कर नव ज्योति प्रदान की है। संस्था द्वारा नेत्र जांच के लिए जिले के तहसील मुख्यालय फतेहगढ़, रामगढ़,फलसूंड में हर माह शिविर लगा कर नेत्र रोगियों का चयन कर उनका निःशुल्क ऑपरेशन किया जाता है तथा मरीज के ट्रांसपोर्ट, आवास, दवाई, चश्मा आदि का खर्च संस्था द्वारा वहन किया जाता है।संस्था अध्यक्ष डॉ दाऊलाल शर्मा द्वारा विशाल भूभाग को देख कर सेवाओं का विस्तार करते हुए संस्था सचिव एम.एल. टावरी को प्रेरित कर उनकी धर्मपत्नी स्व. सुमित्रा टावरी नेत्र जांच केंद्र की स्थापना पोकरण में कर अनुकरणीय कार्य किया है, जहाँ हर गुरुवार, 2 तारीख व 21 तारीख को शिविर लगाकर आंखों की जांच कर परामर्श तथा उचित दर पर चश्मे उपलब्ध करवाए जाते है ताकि इतने बड़े भूभाग के कारण मरीजों को नजदीक स्थान पर पहुंचने में आसानी हो। जिला मुख्यालय पर 25 तारीख के अलावा हर बुधवार को भी आंखों की निःशुल्क जांच कर सस्ती दरों पर चश्मे उपलब्ध करवाये जाते है तथा हर महीने की 2 तारीख को फॉलोअप शिविर के माध्यम से ऑपरेशन के मरीजो की जांच कर उचित परामर्श दिया जाता है। आज जैसलमेर के अलावा आस पास के जिलों से भी इस सेवा का लाभ लेने पहुंच रहे है। यह संस्था की सेवाओं का फल है। संस्था के सदस्यों, ऊर्जावान कार्यकर्ताओं की टीम व भामाशाहों की लंबी कतार के कारण आगामी शिविरों का संचालन तथा कार्य विस्तार सुलभ करवाने में संस्था कटिबद्ध है। आगामी योजनाओ में नेत्र-एंबुलेंस के माध्यम से जिला मुख्यालय व गांव-गांव जाकर कक्षा 10 वीं के छात्र छात्राओं की नेत्र जांच कर जरूरतमंद को नि:शुल्क चश्मा उपलब्ध करवाना है।