Breaking News

प्रदेश में मूसलाधार बारिश (Heavy rain) के चल रहे दौर के कारण हादसों  की संख्या (accidents increase) अब लगातार बढ़ती जा रही है. दौसा में बारिश से स्कूल के दो कमरे गिर गए. वहीं अजमेर (Ajmer) के किशनगढ़ में एक युवक पानी में बह गया, जिससे उसकी मौत हो गई. नागौर (Nagaur) में हाई-वे नंबर-89 पर भारी कटाव हो गया है. वहीं एक मकान पानी में डूब गया है. घर के सभी सदस्य छत पर बैठकर कर राहत का इंतजार कर रहे हैं. चित्तौड़ में गंभीरी बांध के 4 छोटे व घोसुण्डा बांध के 2 बड़े गेट खोले गए हैं.

नागौर में पानी डूबा मकान
नागौर जिले मे गत 12 घंटे से ज्यादा समय से लगातार बारिश जारी है. जिले के रियांबड़ी, डीडवाना और परबतसर तहसील में मुसलाधार बारिश हो रही है. रियांबड़ी तहसील के थांवला कस्बे के पास हाई-वे नंबर-89 पर कटाव हो गया है. परबतसर के भादवा गांव में एक खेत में बना मकान पानी में डूब गया है. मकान से लोगों को निकालने के लिए एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच रही है. पादूकलां कस्बे में पुलिस थाने, सीएचसी व मार्गों पर लबालब पानी भरा है. जिले में आधा दर्जन जगहों पर कच्चे मकान व दीवारें ढहने की खबर आई हैं. तेज बारिश के चलते जिले की सभी स्कूलों में शनिवार प्रशासन ने अवकाश घोषित कर दिया है। परबतसर के भादवा बांध का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है. उच्चाधिकारी इस पर नजर बनाए हुए हैं.

अजमेर व किशनगढ़ में बिगड़े हालात

अजमेर के किशनगढ़ में भी लगातार बारिश से हालात बिगड़ते जा रहे हैं. वहां तेज बहाव के बीच रास्ता पार करते समय एक युवक पानी में बह गया. सूचना पर प्रशासन सहित NDRF की टीम पहुंची मौके पर पहुंची और युवक को बाहर निकलवाया, लेकिन तब तक वह दम तोड़ चुका था. शव को स्थानीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है. अजमेर शहर में दो पुराने मकान गिर गए हैं. दौसा के खेड़ी रामला में बारिश से राजकीय प्राथमिक विद्यालय के दो कमरे भरभराकर गिर गए. गनीमत रही की उस समय कोई भी स्कूली बालक वहां नहीं था, जिससे बड़ा हादसा टल गया। चित्तौड़गढ़-जिले में भी रिमझिम बारिश का दौर जारी है. यहां बारिश के कारण पानी की लगातार आवक से लबालब हुए गंभीरी बांध के 4 छोटे व घोसुण्डा बांध के 2 बड़े गेट खोले गए हैं.