Breaking News

बीसलपुर बांध (Bisalpur dam) का जल स्तर 315 मीटर के पार पहुंच गया है. इसके गेट अब कभी भी खोले जा सकते हैं. बांध की भराव क्षमता 315.50 आरएल मीटर है. बांध के गेट खोले जाने को लेकर शनिवार को ही अलर्ट (Alert) जारी कर दिया गया था. भरे हुए बांध का नजारा देखने के लिए रविवार को हजारों लोग (Thousands of people visited) बीसलपुर पहुंचे.

सेल्फी लेने की होड़ मची हुई है
सुबह से ही लोगों को यहां जमघट लगना शुरू हो गया था. बांध पर लोगों में सेल्फी लेने की होड़ मची हुई है. बांध के भर जाने और वहां लोगों की भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने सुरक्षा के चाक चौबंद व्यवस्था कर रखी है. बांध की स्थिति का जायजा लेने के लिए टोंक जिला कलक्टर और देवली एसडीएम समेत अधिकारी भी पहुंचे.

बांध के डाउन स्ट्रीम क्षेत्र कुआं ढहा

इस बीच बांध के डाउन स्ट्रीम क्षेत्र में हो रही भारी बारिश से सवाईमाधोपुर के ईसरदा गांव में एक पक्का कुआ ढह गया. मुंडेर पर रखा इंजन सेट कुएं के अन्दर डूब गया. यह खेत मुकेश यादव का है. उसका कुंआ बनास नदी से महज आधा किमी दूरी पर स्थित है. बीसलपुर बांध का पानी बनास में आने के बाद यहां हादसे और भी बढ़ने की संभावना है. बांध के गेट खोलने से पहले ही बनास का बहाव क्षेत्रफल से आधा किमी ज्यादा फैला हुआ है. इस हादसे से क्षेत्र के कई किसान परिवार चिंता में डूबे हुए हैं.

अलर्ट है पूरा प्रशासन
स्थानीय प्रशासन ने बांध के गेट खोलने को लेकर अलर्ट जारी कर रखा है. अलर्ट के मद्देनजर प्रशासन ने सभी संबंधित अधिकारियों-कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी है. गेट खोलने पर अधिकारियों को पानी के बहाव क्षेत्र में व्यवस्थाएं बनाए रखने के निर्देश दिए गए हैं. प्रशासन ने गेट खोले जाने की सभी तैयारियां पूरी कर ली है. संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को बहाव क्षेत्र के गांवों और आबादी को शिफ्ट करने के निर्देश दिए गए हैं.