Breaking News

जिस पिता ने पाल-पोसकर बड़ा किया. जिसने चलना सिखाया. हाथ पकड़कर स्कूल लेकर गया. उसी पिता की बेटे ने इतनी बेरहमी से हत्या की, जिसे सुनकर किसी का भी कलेजा कांप जाए. बेटे ने अपने पिता की हत्या कर उसके शरीर के छोटे-छोटे टुकड़े कर 6-7 बाल्टियों में भर दिए. मामला हैदराबाद के मलकाजगिरी इलाके की कृष्णानहर कॉलोनी का है.

रेलवे से रिटायर्ड 80 साल के कृष्ण सुधीर मूर्ति की शुक्रवार को उसके बेटे ने निर्ममता से हत्या की थी और शव के टुकड़े-टुकड़े कर उसे प्लास्टिक की बाल्टियों में भर दिया. इस मामले का खुलासा न हुआ होता अगर घर से बदबू बाहर न फैलती. जब पड़ोसियों के घर तक इस नृशंस हत्या की बू पहुंची तो उन्होंने पुलिस को खबर की.

इसके बाद रविवार को जब मामले का खुलासा हुआ तो लोगों के होश उड़ गए. हैरानी की बात है कि इस निर्मम हत्या में बेटे का साथ मां और बहन ने भी दिया, जो उसी घर में शव के टुकड़ों के साथ रह रहे थे.

पुलिस ने आरोपी मुरली, मृतक की पत्नी गया और बेटी प्रफ्फुल को गिरफ्तार कर लिया. जब पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने सुधीर मूर्ति की हत्या का जुर्म कबूल कर लिया. उन्होंने बताया कि सुधीर मूर्ति शराब पीकर उन्हें परेशान करता था. जब उनके सब्र का बांध टूट गया तो उन्होंने सब्जी काटने वाले चाकू से पहले उसकी हत्या की और उसके बाद शव को टुकड़ों-टुकड़ों में काट डाला.

एसीपी जी संदीप ने घटनास्थल का पूरा ब्योरा बताया. उन्होंने कहा, 'शव के टुकड़े 6-7 बाल्टियों में रखे हुए थे. घर में दो महिलाएं थीं, जो मृतक की पत्नी और बेटी है. महिला ने बताया कि उसके बेटे कृष्ण ने उसके पति की हत्या की और फिर चाकू से ही शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिए.

इसके बाद उन्होंने उन टुकड़ों को बाल्टियों में डाल दिया और उसके बाद वहां से भाग गए.' उन्होंने आगे कहा, 'घर में अकसर पैसों को लेकर बेटे और पिता के बीच लगातार लड़ाई-झगड़े होते थे. हम इस मामले की जांच कर रहे हैं.' पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया है.