Breaking News

बिलासपुर: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बिलासपुर (Bilaspur) में दिल को दहला देने वाला एक मामला सामने आया है. बिलासपुर के सिटी कोतवाली पुलिस थाने (Police Station) में एक महिला अपने ही पति के खोपड़ी का एक टुकड़ा लेकर पहुंच गई. इसके बाद वहां हड़कंप मच गया. महिला का पति बीमार है और उसका इलाज बिलासपुर के ही एक निजी अस्पताल में चल रहा है. महिला का आरोप है कि अस्तपाल प्रबंधन ने उसके पति को बंधक बनाकर रखा है. इलाज के नाम पर अब तक 7 लाख रुपये तक जमा करा लिए गए हैं.

जांजगीर-चांपा (Janjgir-Champa) जिले के पामगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम मेउ निवासी शिवकुमारी कुर्रे बिलासपुर (Bilaspur) कोतवाली पहुंची. शिवकुमारी ने पुलिस से शिकायत की है कि उसका पति संजय कुमार एक माह पहले कोरबा (Korba) जिले के खंडई मेला में सामान बेचने गया था. मेले से वापसी के दौरान वो सड़क हादसे में घायल हो गया. इस हादसे में संजय कुमार के सिर समेत कई अंगों में गंभीर चोंट आई. इसके बाद बाद बीते 28 जुलाई को उसे इलाज के लिए पामगढ़ के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया.

72 घंटे में ठीक करने का दिलाया भरोसा
शिवकुमारी ने पुलिस को बताया कि संजय की हालत को देखते हुए डॉक्टर्स ने बिलासपुर के गांधी चौक स्थित श्री रामकृष्ण अस्पताल रेफर कर दिया. अस्पताल प्रबंधन ने 72 घंटे के भीतर उसे ठीक करने का भरोसा दिलाया. लेकिन एक महीने बीत जाने के बाद भी उसकी हालत में सुधार नहीं हुआ. इलाज के नाम पर अब तक 7 लाख रुपये तक जमा कराए जा चुके हैं. डॉक्टर लगातार पैसा मांग रहे हैं. शिवकुमारी का कहना है कि वो अपने पति का इलाज दूसरे जगह कराना चाहती है, लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने उसे बंधक बना लिया है.