Breaking News

बीजिंगचीन के लोगों ने भारत के दूसरे चंद्र मिशन से जुड़े वैज्ञानिकों की इंटरनेट पर काफी सराहना की है. लोगों ने इसरो के वैज्ञानिकों से उम्मीद न छोड़ने और ब्रह्मांड में खोज जारी रखने को कहा है. चीन की आधिकारिक मीडिया ने ये जानकारी दी है. भारत के मिशन ‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का 7 सितंबर को जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया था. उस वक्त वह चांद की सतह से सिर्फ 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था.

इससे फर्क नहीं पड़ता कि किस देश को सफलता मिली- चीनी मीडिया

चीन में बहुत से लोगों ने टि्वटर जैसी माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ‘साइना वीबो’ पर भारतीय वैज्ञानिकों से उम्मीद न छोड़ने को कहा. सरकार संचालित ग्लोबल टाइम्स एक इंटरनेट उपभोक्ता के हवाले से कहा, ‘‘अंतरिक्ष खोज में सभी मनुष्य शामिल हैं. इससे फर्क नहीं पड़ता कि किस देश को सफलता मिली, इसे हमारी प्रशंसा मिलनी चाहिए और जो अस्थायी रूप से विफल हुए हैं, उनका भी हौसला बढ़ाया जाना चाहिए.’’