Breaking News

चित्तौड़गढ़.  शहर में रविवार सुबह तक 52 इंच से अधिक बारिश (Heavy Rain) हो चुकी थी और लगातार जारी रहने से कई इलाकों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए. करीब 400 से अधिक स्कूली बच्चे और शिक्षक भी इस दौरान स्कूल से घर नहीं लौट पाए. रावतभाटा (Rawatbhata) उपखंड में भैंसरोडगढ़ इलाके के एक स्कूल में 350 से अधिक छात्र और 50 शिक्षक बीते दो दिन तक वहां फंसे हुए हैं. रविवार रात को भी बच्चों को चाम्बला पुलिया पर पानी की चादर (पुलिया के ऊपर तक पानी) चलने के चलते स्कूल में ही ठहराया गया.

बांध से पानी छोड़ा तो बिगड़े हालात

जानकारी के अनुसार रावतभाटा के राणाप्रताप सागर बांध से छोड़े गए पानी के कारण भैंसरोडगढ़ मार्ग स्थित चाम्बला पुलिस पर पानी की चादर चलने लगी. इसके चलते आदर्श विद्या मंदिर स्कलों में पढ़ने वाले करीब 350 बच्चे शनिवार को पुलिया पार नहीं कर सकें. शनिवार को स्कूल प्रबंधन ने बच्चों के रहने और खाने की व्यवस्था महुपुरा स्कूल में की. रविवार को भी चादर चलते रहने से रात को उन्हें भैंसरोड़गढ़ के श्रीराम बाल विद्या मंदिर में ठहराया गया.

नदी में बहे युवक का शव 14 किमी दूर मिला

भारी बारिश के बाद तेज बहाव के चलते जिले की बेड़च नदी में तीन लोगों के साथ बाइक सहित बहे युवक सद्दाम का शव चौथे दिन घटना स्थल से करीब 14 किमी दूर सारण गांव के पास मिला. भैंस चराने गए एक व्यक्ति को नदी में तैरते शव देखा था. पारसोली थानाधिकारी संजय गुर्जर के अनुसार घोडीघाट एनिकट काजवे पर बहे साडास निवासी 20 वर्षीय सद्दाम पुत्र मुश्ताक का शव सारण गांव के पास मिला है.

350 students snf 50 teachers have been stuck in the school as roads are reportedly blocked in chittorgarh चित्तौड़गढ़ (chittorgarh ) में लगातार बारिश और नदी-नालों में उफान के चलते करीब 400 से अधिक स्कूली बच्चे और शिक्षक दो दिन से घर नहीं पहुंच पाए हैं.