Breaking News

पाकिस्तान (Pakistan) आतंकियों को भेजकर भारत से हमेशा प्रॉक्सी वॉर को जारी रखना चाहता है. लेकिन भारतीय सेना ने ऑपरेशन ऑल आउट चलाकर पाकिस्तान और उनके आतंकी संगठनों की कमर तोड़ दी. ऐसे में अब पाकिस्तान इंटरनेट और सोशल नेटवर्क (Social Network) के जरिए भारत पर हमला कर रहा है. सूत्रों की माने तो पाकिस्तान आर्मी की मीडिया विंग ISPR हर साल करोड़ों रुपये सिर्फ भारत के ख़िलाफ़ झूठे प्रोपेगेंडा पर ही ख़र्च कर देती है.

हर ट्वीट के लिए 10-15 रुपये
ISPR ने पाकिस्तानियों को 2000 से 3000 सिम कार्ड बांटे हैं. जिन लोगों को ये सिम बांटे गए हैं वो बेरोज़गार हैं. पाकिस्तान की सेना रोज़गार के नाम पर इन्हें हर ट्वीट करने पर पैसा देती है. बाक़ायदा हर ट्वीट के लिए 10-15 रुपये तक दिए जाते है. ख़ास बात तो ये है कि जिन लोगों को ये सिम बांटे गए है उनमें ISPR का कोई भी कर्मचारी नहीं है. सूत्रों की माने तो ISPR में 1000 से 1200 के आसपास लोग काम करते है. जिनमें 50-60 ही सेना के अधिकारी हैं.

15000 फेक ट्वीटर अकाउंट

एक ट्विटर यूज़र 5 अकाउंट खोल सकता है. ऐसे में बांटे गए 3000 सिम कार्ड के 5-5 अकाउंट के हिसाब से ये 15000 फेक ट्वीटर अकाउंट हो जाते है. ये तो वो अकाउंट हैं जो पाकिस्तानी सेना की तरफ़ से चलाए जा रहे हैं. इसके अलावा पाकिस्तान सरकार की तरफ़ से अनगिनत फेंक अकाउंट (Fake Account) चल रहे हैं. अगर इनके काम करने के तरीक़े की बात करे तो इन्हें बाक़ायदा रोज़ एक थीम दी जाती है, जो कि भारत विरोधी गतिविधियों को अंतरराष्ट्रीय मंच का ध्यान खींचने के लिए इस्तेमाल में लायी जाती है. फिर उस थीम को फेक अकाउंट के जरिए लगातार ट्वीट और रीट्वीट किया जाता है जिससे कि वो ट्रेंड में आ जाए.
 

कई अकाउंट किए गए डीएक्टिवेट
सूत्रों की माने तो अब तक 50 से ज़्यादा सैन्य अधिकारियों के फर्जी अकाउंट को डीएक्टिवेट कराया जा चुका है. इनमें सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत का एक फेक अकाउंट, वाइस चीफ देवराज अनबू के दो अकाउंट, नॉर्दर्न आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रनबीर सिंह, पूर्व डीजीएमओ लेफ्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया, पूर्व सेंट्रल आर्मी कमांडर का एक का फेक अकाउंट भी था. इन सबको डीएक्टिवेट कराया गया है. यहीं नहीं मालेगाव ब्लास्ट के आरोपी कर्नल पुरोहित का भी फेंक अकाउंट बनाया गया था. वो फिलहाल बेल पर हैं. इसके अलावा बॉलीवुड के सितारों के नाम पर भी फेक अकाउंट खोले गए है. भारतीय सेना इन फेक ट्वीटर अकाउंट पर नजर बनाए हुए है. 1000 से ज़्यादा अकाउंट पर कार्रवाई की प्रक्रिया चल रही है.