Breaking News

राजस्थान (Rajasthan) में विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती (Khwaza Garib Nawaz) की अजमेर स्थित दरगाह  (Ajmer Sharif Dargah) इलाके में मिली विस्फोटक की सूचना झूठी निकली है. मंगलवार देर शाम को पुष्कर (Pushkar) से गिरफ्तार एक युवक से पूछताछ में विस्फोटक की बात कही थी. इसके बाद पूरे इलाके में पुलिस का गोपनीय तरीके से सर्च ऑपरेशन (Search Operation) शुरू किया. सर्च ऑपरेशन में एक होटल के कमरे में धारदार हथियार बरामद हुए और इस मामले में दो युवकों को गिरफ्तार किया गया. हालांकि विस्फोटक की सूचना पुलिस को गुमराह करने वाली साबित हुई.

फरवरी में है ख्वाजा का उर्स, तैयारियां अभी से

विश्व प्रसिद्ध सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में इन दिनों मेहमानों को उर्स का दावतनामा भेजने का काम जारी है. बता दें कि ख्वाजा गरीब नवाज का उर्स चार महीने बाद शुरू होने वाला है. सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती का उर्स (Urs of Khwaja Garib Nawaz) अगले साल फरवरी में आयोजित होगा. अभी से उर्स को लेकर देश-विदेश में दावतनामा भेजा जा रहा.