गुजरात से PM मोदी का वार- मुंह पर रुमाल रखकर मोरबी आई थीं इंदिरा गांधी

Nov 29,2017, 05:11 AM

 गुजरात चुनाव के लिए सोमवार को ताबड़तोड़ चार रैलियां करने के बाद पीएम मोदी बुधवार को मोरबी पहुंचे। पीएम ने यहां चुनावी रैली को संबोधित करते हुए गुजरात सरकार द्वारा करवाए गए विकास कार्यों का जिक्र किया। इस दौरान पीएम ने राहुल गांधी के मकान वाले ट्वीट पर पलटवार करते हुए कहा कि 70 साल तक राज करने वाले हिसाब नहीं दे रहे। हम गरीबों का पैसा किसी को लूटने नहीं देंगे। पीएम ने कहा कि हमने गुजरात में पानी की हर एक बूंद सहेजने का काम शुरू किया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि पानी की कमी के बदतर नतीजों के बारे में हम अच्छी तरह जानते हैं। हमारे लिए विकास केवल चुनाव जीतना नहीं बल्कि हर व्यक्ति की सेवा करना है।पीएम ने गुजरात में आए भूकंप को याद करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि जब इंदिरा गांधी जी मोरबी आईं थीं, मुझे याद है एक चित्रलेखा मैगजीन में उनकी फोटो थी जिसमें वो बदबू की वजह से मुंह पर रुमाल लगा रखा था, लेकिन हमारे जनसंघ और आरएसएस कार्यकर्ता मोरबी की सड़कों पर थे, यह इंसानीयत की महक है।बता दें कि पीएम मोदी आज फिर राज्य में चार रैलियों को संबोधित करेंगे। पीएम की यह रैलियां सोमनाथ के आसपास के इलाकों में होंगी। जानकारी के अनुसार मोदी आज सौराष्ट्र के मोरबी और प्राची इलाके के अलावा भावनगर और नवसारी में जनसभाओं को संबोधित करेंगे। वहीं दूसरी तरफ राहुल गांधी भी आज गुजरात के सौराष्ट्र में होंगे और सोमनाथ मंदिर में दर्शन करेंगे।गुजरात चुनाव में इस बार सब कुछ झोंकने के साथ बेहद सावधानी बरत रही कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के धुंआधार सियासी प्रहार को थामने के लिए मैदान में उतर गई है। मोदी के गुजराती अस्मिता के साथ इमोशनल कार्ड का दांव चलने का पहले से ही अंदाजा लगा रही पार्टी ने उनके वार का तथ्यों से जवाब देने की रणनीति अपनाने का फैसला लिया है। इसके लिए पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता मोर्चा संभालने के लिए मैदान में उतर गए हैं। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी खुद सोमनाथ मंदिर में दर्शन के बाद अस्मिता दांव को चुनौती देंगे।राहुल की सोमनाथ में तो कोई सियासी सभा नहीं होगी मगर मंदिर में दर्शन और स्वागत के बाद वे जूनागढ़ और अमरेली जिले की अपनी सभाओं के दौरान प्रधानमंत्री पर वार का मोर्चा खोलेंगे। हालांकि मोदी पर निजी हमला करने से कांग्रेस बचेगी। पार्टी सूत्रों के अनुसार, गुजरात के मैदान में उतारे जा रहे नेताओं को भी मोदी पर निजी आक्षेप लगाने से बचने की सलाह दी गई है।युवा कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की चाय वाली विवादित टिप्पणी से हुए सियासी बवाल को देखते हुए पार्टी चुनाव अभियान के इस उफान में प्रधानमंत्री और भाजपा को इमोशनल कार्ड का दांव सिरे चढ़ाने का मौका नहीं देना चाहती। गुजरात में संभावनाओं के बीच केवल मोदी को अंतर मान रही कांग्रेस उनके धुंआधार प्रचार की आंधी का जमीनी असर थामे रखना चाहती है। ताकि चुनाव में इस बार उलटफेर की संभावना का दरवाजा खुला रखा जा सके।

News Next

सुरेश स्वामी@तारानगर(चूरू) तारानगर कस्बे के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तारानगर में चिकित्सक हड़ताल पर रहे मिली जानकारी अनुसार डॉ अजय चौधरी का तबादला करौली में हो

सुरेश धवल@जालोर। जिला मुख्यालय पर आज दलित समुदाय के लोगो ने कुछ ही दिनो पहले ग्राम उनडी तहसील सायला में एक भील समाज की लड़की के साथ में हुई छेड़छाड़ को लेकर आज जालोर एसपी को

Previous News

सिंचाई के लिए पानी की मांग को लेकर आंदोलनरत राजस्थान के किसानों की मांग मंगलवार को पूरी हो गई.इंदिरा गांधी नहर के प्रथम चरण में चार में से दो समूह में पानी की मांग को लेकर

प्रेमसुख सोनी@नाचना(जैसलमेर) नाचना गांव स्थित सभी निजी विद्यालय 30 नवंबर 2017 को राजस्थान निजी शिक्षण संघ के तत्वाधान सें सरकार द्वारा निजी विद्यालयों के साथ किए जा रहे

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

भारत में चुनाव बैलेट पेपर पर होने चाहिए या ईवीएम मशीन पर