आराम की नींद चाहिए तो बचिए तकिए  से होने वाली इन परेशानियों से

Jan 16,2018, 11:01 AM

नई दिल्ली: कई लोगों को अपने मुलामय और गद्देदार तकिए के बिना नींद नहीं आती. किसी-किसी को तो एक नहीं बल्कि दो तकिए लगाकर सोने की आदत होती है. ऐसे में उन्हें उस वक्त तो अच्छी नींदका अहसास हो, लेकिन बाद में ये कई परेशानियों की वजह बन सकता है. जी हां, तकिया लगाकर सोने के फायदों से ज़्यादा उसके नुकसान हैं. जो आपको डेली लाइफ में कई दिक्कतों में डाल सकते हैं. नीचे जानें तकिए के बिना सोने से आप अपनी लाइफ से किन परेशानियों को दूर कर सकते हैं.   

1. एक्ने और रिंकल्स करे दूर

जी हां, बिना तकिए के सोने से आपके चेहरे से एक्ने और रिंकल्स दूर रहते हैं. इसकी वजह है आपके तकिए के कवर पर मौजूद धूल, बैक्टिरिया और गंदगी. ये सब आपके चेहरे पर बार-बार लगते हैं, जिससे एक्ने की समस्या होती है. सिर्फ एक्ने ही नहीं बल्कि तकिए पर आप चेहरे को कैसे भी करके सोते हैं जिससे उसकी इलास्टिसिटी कम होकर रिंकल्स बढ़ते हैं

2. पीठ का दर्द

अगर आपको पीठ में दर्द रहता है या फिर आपका काम सिर्फ कुर्सी पर पूरे दिन बैठे रहना है तो तकिए का इस्तेमाल भूलकर भी ना करें. क्योंकि इससे पीठ का दर्द और भी बढ़ सकता है. बिना तकिए के सोने से रीढ़ की हड्डी को आराम मिलता है, इसी वजह से धीरे-धीरे पीठ का दर्द का कम हो जाता है.

3. अच्छी नींद 

अगर आपको लगता है कि तकिया लगाकर ही अच्छी नींद आती है तो आप गलत हैं. रिसर्च से पता चला है कि बिना तकिए के सोने से नींद बेहतर आती है और इससे नींद ना आने की परेशानी भी दूर हो जाती है. क्योंकि ऐसे सोने से रीढ़ से लेकर पैरों की हड्डियों तक सभी कुछ अपने सही पॉश्चर में होता है. 

4. स्ट्रेस करे दूर

गलत पॉश्चर या पोज़िशन में सोने पर नींद पूरी नहीं होती. इससे आप पूरे दिन काम पर ठीक तरीके से ध्यान नहीं लगा पाते, जिससे स्ट्रेस बढ़ता है. इसीलिए बिना तकिए के सही पोज़िशन में सोएं.

5. मेमोरी बढ़ाए

जब हम जागते हैं तब दिमाग भी एक्टिव रहता है. ठीक इसी तरह सोने पर दिमाग भी रेस्ट मोड पर चला जाता है. लेकिन अगर आपके शरीर को सही नींद मिली तो दिमाग नींद में भी एक्टिव रहता है, जिससे चीज़े भूलने जैसी दिक्कतें सामने आती हैं. वहीं, अगर आपको सही नींद मिले तो दिमाग को रेस्ट मिलता है और मेमोरी अच्छी होती है. इसके लिए बिना तकिए के सोएं. 

6. बच्चे को फ्लैट हेड सिंड्रोम से बचाए

अगर आप बच्चे को सॉफ्ट तकिए पर ज़्यादा देर तक सुलाते हैं तो उसे फ्लैट हेड सिंड्रोम होने का खतरा बना रहता है. इसमें बच्चों का सिर एक तरफ से फ्लैट (चपटा) हो जाता है. इससे बचाने के लिए ज़रूर है बच्चों को बिना तकिए के सुलाएं, ताकि उनके सिर का आकार सही तरीके से डेवलेप हो सके.

7. बच्चों को गर्दन की मोच से बचाएं

छोटे बच्चे काफी देर तक सोते हैं, ऐसे में कई बार तकिए की वजह से उनकी गर्दन में मोच आने का खतरा बना रहता है. हालांकि ये तकिए के गलत डिज़ाइन की वजह से भी हो सकता है. इसीलिए बेहतर है कि उन्हें बिना तकिए के सुलाने की आदत डाली जाए.

नोट- अगर आप बिना तकिए के नहीं सो सकते तो ध्यान रखें कि वो ज़्यादा हार्ड और ऊंचा ना हो.

News Next

नई दिल्ली:नॉर्दन आयरलैंड के डाउनपैट्रिक शहर में एक महिला ने ऐसी चीज की जिससे हर कोई हैरान है. जिसने भी 45 वर्षीय अमांडा टीग की लव स्टोरी को सुना वो हैरान रह गया. अमांडा ने किसी

सुनील कुमार खेदड़@गुढागोड़जी(झुंझुनू)। राजकीय आदर्श माध्यमिक विद्यालय पुजारी की ढाणी में प्रधानाध्यापक नेकी राम पूनिया की ओर से 221 समस्त छात्र छात्राओं को खीर जलेबी परोसी

Previous News

आनन्द प्रकाश वर्मा@सांभर लेक(जयपुर)। गणतन्त्र दिवस की तैयारियों को लेकर उपखण्ड़ अधिकारी के प्रतिनिधि के रूप में तहसीलदार घनश्याम महेश्वरी ने पालिका सभागार में सभी

नई दिल्ली: संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' को लेकर विवाद खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. 'पद्मावती' के 'पद्मावत' होने के बावजूद इस फिल्म का फिर से विरोध मुखर

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

भारत में चुनाव बैलेट पेपर पर होने चाहिए या ईवीएम मशीन पर