गांवों की डगर नहीं आसान, दशकों बाद भी नहीं बनी पक्की सड़क

Mar 19,2018, 05:03 AM

 

कुम्भ सिंह इन्दा बेलवा/जोधपुर 

 बालेसर उपखण्ड मुख्यालय से सटे बेलवा राणाजी ग्राम पंचायत के चड़ायत नगर, मनोहर सिंह नगर के 200 ढाणीयों के बाशिंदे दशकों से पक्की राह की बाट जोह रहे हैं। दशकों से पक्की सड़क की ग्रामीणों की यह मांग दरकिनार हो रही है। ग्रामीणों की इस मांग के प्रति ना जनप्रतिनिधि गंभीर हैं और ही प्रशासन इस ओर ध्यान दे रहा है। नतीजतन ग्रामीणों को कच्चे रास्ते से हो रही परेशानी को मजबूरन झेलना पड़ रहा है। वहीं ग्रामीण इस मांग के पूरा नहीं होने से परेशान हैं। उनका कहना है कि कई जनप्रतिनिधि आए और चले गए, लेकिन किसी ने सड़क निर्माण के प्रति रुचि नहीं दर्शाई। ऐसे में उन्हें कच्चे रास्ते से मुसीबत झेलनी पड़ रही है।


मिट्टी में धंसते वाहन


कुई से होते हुए केतू जोड़ने वाली सड़क से बेलवा राणाजी जाने वाला करीब पांच किलोमीटर तक रास्ता ना केवल कच्चा है, बल्कि इसमें भूड़ा-मिट्टी जमा है। मिट्टी भी इतनी की आसानी से वाहन भी नहीं निकल पाते। दोपहिया वाहन तो मिट्टी में धंस जाते हैं, जिन्हें धक्का देकर निकलना पड़ता है। यही वजह है कि इस रास्ते से चौपहिया वाहन भी नहीं गुजरते।


स्कूल बस भी नहीं पहुंचती


पक्की सड़क के अभाव में स्कूली बच्चों को इसका विशेष रूप से खमियाजा भुगतना पड़ता है। इन ढाणियों तक स्कूल बस नहीं जाती। ऐसे में कई बच्चे तो पैदल चलकर शिक्षा मंदिर तक पहुंचते हैं, वहीं कई ग्रामीणों ने अपने बच्चों की पढ़ाई की खातिर शहर की ओर रुख करना पड़ा !
और बरसात के मौसम के समय पानी के बहाव के कारण जगह जगह गहरे खढ्ढे हो रखे है , बरसात के मौसम मे तीन जगह नदीयों के बहाव के कारण घटों इंतजार करना पड़ता है ! इससे स्थानीय लोगों के साथ राहगीरों तथा वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है वैसे तो बेलवा राणाजी जाने हेतू चार किलोमीटर रास्ता तय करना पड़ता है परन्तु रास्ते मे पानी के बहाव के कारण बालेसर होते हुए बेलवा राणाजी तक बीच से पच्चीस किलोमीटर तक रास्ता तय करना पड़ता है !

दुपहिया वाहन चालकों को होती मुसीबत


रास्ते मे हो रखे गढ्ढों से दोपहिया वाहनों का निकलना मुश्किलभरा होता है ! गढ्ढे के कारण वाहन चालक गिरकर चोटिल होे जाते है रात के समय आने जाने वाले वाहन चालकों के साथ हादसा होने का अंदेशा बना रहता है सड़क की समस्या से स्कूल जाने वाले बच्चो को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है ! 

सड़क बनने से जुडे़गे अनेक गांव 


पक्की सड़क बनने से कुई , केतू , रावलगढ़,बेलवा राणाजी,बस्तवा,डेरिया, ओसिया गांव इस सड़क से जुडे़गे !

News Next

  (रविन्द्रसिह ऊमट)  रानीवाडा  प्रदेश में आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर आहोर विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी से प्रबल दावेदार किशोरसिह नीलकंठ जिला परिषद

राजेश कुमार गर्ग / बड़गाँव भीण्डर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के युवा नेता और राष्ट्रीय सोशल मीडिया संयोजक विपिन यादव को कांग्रेस के

Previous News

पाली मारवाड़   पाली जिले के रायपुर उपखंड क्षेत्र के गिरी कस्बे में तीन दिवसीय चामुण्ड माता के वार्षिक मेले का आयोजन शनिवार को आयोजन हुआ। मेले में भक्तों ने माता के

न्यूज बाडमेर / ओमप्रकाश कडवासरा   बाड़मेर. शहर की यातायात व्यवस्था को सुधारने के प्रयास लगातार जारी हैं। यातायात पुलिस की ओर से ट्रेफिक प्वाइंट पर पुलिसकर्मी तैनात

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

भारत में चुनाव बैलेट पेपर पर होने चाहिए या ईवीएम मशीन पर