गरीब नवाज वेलफेयर सोसायटी ने वीर शहिद अब्दुल हमीद को ऋदांजली दी

Sep 11,2018, 11:09 AM

अलीम खान@जयपुर।शहीद स्मारक पर गरीब नवाज वेलफेयर सोसायटी की ओर से 4 बजे सभी धर्मों व समाज की तरफ से ऋदांजली का कार्यक्रम रखा गया अध्यक्ष दिलीपसिंह राठौड़ ने बताया कि वीर शहीद अबदुल हमीद का बलिदान देश भुला नहीं सकता महावीर चक्र और परमवीर चक्र से सम्मानित कम्पनी क्वार्टर मास्टर हवलदार शहीद अब्दुल हमीद को हम सब नमन करते हैं जिन्होंने 1965 में हुए भारत-पाक युद्ध में अपनी अद्भुत साहस और वीरता को दिखाते हुए  दुशमनो के शक्तिशाली कई अमेरिकन पैटन टैंकों को धवस्त  कर दुशमनो को मुहतोड़ जवाब देते हुए वीर गति को प्राप्त हुए.रीयाज मंसूरी ने बताया कि अब्दुल हमीद का जन्म 1 जुलाई, 1933 को उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ीपुर ज़िले में स्थित धरमपुर नाम के छोटे से  गांव में एक गरीब मुस्लिम परिवार में हुआ था. और उनके पिता का नाम मोहम्मद उस्मान था. उनके यहाँ परिवार की आजीविका को चलाने के लिए कपड़ों की सिलाई का काम होता था.लेकिन अब्दुल हमीद का दिल इस सिलाई के काम में बिलकुल नहीं लगता था, उनका मन तो बस कुश्ती दंगल और दांव पेंचों में लगता था.क्युकी पहलवानी उनके खून में थी जो विरासत के रूप में मिली उनके पिता और नाना दोनों ही पहलवान थे वीर हमीद शुरू से ही लाठी चलाना कुश्ती करना और बाढ़ में नदी को तैर कर पार करना, और सोते समय फौज और जंग के सपने देखना तथा अपनी गुलेल से पक्का निशाना लगाना उनकी खूबियों में था. और वो इन सभी चीजों में सबसे आगे रहते थे सैयद कुतुब चिश्ती ने कार्यक्रम के अंत में कहा उनका एक गुण सबसे अच्छा था जोकि दूसरो की हर समय मदद करना. जरूरतमंद लोगो की सहायता करना. और अन्याय के खिलाफ आवाज़ उठाना और उसे बर्दास्त ना करना. एसी ही घटना एक बार उनके गाँव में हुयी जब एक गरीब किसान की फसल को जबरजस्ती वहा के ज़मींदार के लगभग 50 गुंडे काट कर ले जाने के लिए आये तब हमीद को यह बात का पता चला और उन्हें यह बात बर्दास्त नहीं हुयी और उन 50 गुंडों से अकेले ही भीड़ गए. जिसके कारण उन सभी गुंडों को भागना पड़ा. और उस गरीब किसान की फसल बच गयी। गरीब नवाज वेलफेयर सोसायटी की ओर से पुष्प अर्पित कर ऐसे वीर योद्धा को याद किया।

इस मौके पर रीयाज अहमद मंसूरी भारती क्षीवासतव शबबीर खान कांजी अलीमुद्दीन अब्दुल हफिज दिनेश गोयल रुसतम अली घोसी सरदार भजन सिंह कललु कुरैशी फखरुद्दीन शाह प्रभुदास मेघवाल हरीप्रसाद जाटव बंटी भाई  रजजाक भाटी अविनाश अभीषेक चौधरी फुरकान मेहंदी कपिल गुजर शेख बादशाह अकबर हूसैन सजजी मैथ्यू तरूण अग्रवाल राजवीर सिंह हेमंत जसोरिया नवाज खान तुशारचरनाल मोईनुद्दीन आदि मौजूद थे।

News Next

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि पड़ोसी देशों के नेताओं का पड़ोसियों जैसा संबंध होना चाहिए जो किसी प्रोटोकॉल से बंधे नहीं होते हैं. प्रधानमंत्री

असम में हुए लागू हुए नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) के मुद्दे पर काफी राजनीतिक बवाल मचा था. अब भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव ने इस मुद्दे पर एक बड़ा बयान दिया है. सोमवार

Previous News

डॉक्टर इस्माईल@जयपुर। महारानी कॉलेज के कैंपस में सोमवार को होम्योपैथी एसोसिएशन जयपुर की ओर से एक हेल्थ अवेयरनेस कैंप का आयोजन किया गया इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि महिला

रमेश टेलर@सिरोही।जावाल के पिपलिया गली (हरिजन बस्ती )से शमसान घाट तक सड़क के नवनिर्माण की मांग जावाल के कार्यकर्ताओं ने जिला प्रमख पायल परसरामपुरिया से की। जावाल ग्रामीणों

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

राजस्थान में किसकी सरकार आनी चाहिए ?