आधार पर फैसला पढ़ते हुए SC ने कहा- आधार यूनीक है, ये सबसे अलग बनाता है

Sep 26,2018, 11:09 AM

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने आधार कानून के पक्ष में फैसला सुनाया है। सर्वोच्च अदालत कहना है कि आधार से आम नागरिक को पहचान मिली है। इससे गरीबों को उनका हक मिला है। आधार एकदम सुरक्षित है। प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने सभी पक्षों की बहस सुनकर 10 मई को फैसला सुरक्षित रख लिया था। इसके बाद यह साफ हो जाएगा कि आधार की जानकारी देना निजता का उल्लंघन है या नहीं।

सेवानिवृत्त जज पुत्तासामी और कई अन्य लोगों ने आधार कानून की वैधानिकता को चुनौती दी थी। याचिकाओं में विशेष तौर पर आधार के लिए एकत्र किए जाने वाले बायोमेट्रिक डाटा से निजता के अधिकार का हनन होने की दलील दी गई है। आधार की सुनवाई के दौरान ही कोर्ट में निजता के अधिकार के मौलिक अधिकार होने का मुद्दा उठा था।

इसके बाद कोर्ट ने आधार की सुनवाई बीच में रोककर निजता के मौलिक अधिकार पर नौ न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने सुनवाई की और निजता को मौलिक अधिकार घोषित किया। इसके बाद पांच न्यायाधीशों की पीठ ने आधार की वैधानिकता पर सुनवाई शुरू की थी। इस मामले की कुल साढ़े चार महीने में 38 दिनों तक सुनवाई हुई।

याचिकाकर्ताओं की ओर से दलील दी गई थी कि एकत्र किए जा रहे डाटा की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं हैं। ये भी आरोप लगाया गया है कि सरकार ने हर सुविधा और सर्विस से आधार को जोड़ दिया है जिसके कारण गरीब लोग आधार का डाटा मिलान न होने के कारण सुविधाओं का लाभ लेने से वंचित हो रहे हैं। यह भी कहा गया था कि सरकार ने आधार बिल को मनी बिल के तौर पर पेश कर जल्दबाजी में पास करा लिया है।

आधार को मनी बिल नहीं कहा जा सकता। दूसरी ओर, केंद्र सरकार, यूएआइडी, गुजरात और महाराष्ट्र सरकार सहित कई संस्थाओं ने सुप्रीम कोर्ट में आधार कानून को सही ठहराते हुए याचिकाओं को खारिज करने की अपील की थी। सरकार की ओर से कहा गया कि आधार कानून इसलिए लाया गया है ताकि सुविधाओं का लाभ वास्तविक जरूरतमंदों तक पहुंचे। बीच में उसका लीकेज न हो। यह भी कहा था कि एकत्र किया गया डेटा सरकार के पास सुरक्षित है। इसके अलावा डेटा सुरक्षित रखने के बारे में कानून बनाने पर विचार हो रहा है।

News Next

सुप्रीम कोर्ट ने आज सरकारी नौकरी में प्रमोशन में आरक्षण पर बड़ा फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि प्रमोशन में आरक्षण देना जरूरी नहीं है. फैसला सुनाते हुए जस्टिस

प्रेम पूनियां(जोधपुर)खुडियाला गाँव के अमर शहीद श्री गणपतराम कडवासरा की शहादत को अमर बनाए रखने,उसे मान सम्मान देने और ग्रामीण प्रतिभाओं के कौशल को विकसित करने के उद्देश्य

Previous News

चंद्रकला वैष्णव@मांडलगढ़(भीलवाड़ा) “ साहब मां की पहले तो तेज हवा चलने से मक्की की फसल आड़ी पड़ गई और बची कुची उड़द मूंग की फसल मु आस लगाए बैठीया हा पर बिगड़ा की बारिश ने

हिमांशु गोयल@बुहाना(झुंझुनू)काकड़ा गाँव के अंदर आज फिर एनजीओ श्री शरदा कल्याण सर्विस ट्रस्ट झुंझुनू टीम पहुंची जिसके अंदर जिला अध्यक् सुरेश सियाग, विकास बलोदा और सुमेर

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

राजस्थान में किसकी सरकार आनी चाहिए ?