राहुल गांधी के सामने भिड़े सिंधिया और दिग्विजय, समझाने के लिए बनानी पड़ी कमेटी

Nov 01,2018, 14:11 PM

नई दिल्ली \ मध्य प्रदेश में टिकट वितरण कांग्रेस के लिए बड़ा सिरदर्द बनता जा रहा है. जानकारी के मुताबिक बुधवार रात नौबत कुछ ज्यादा ही खराब हो गई. एबीपी न्यूज़ को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक दो रजवाड़े, ग्वालियर के महाराज लोकसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और राघोगढ़ के राजा राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने ही भिड़ गए. सूत्रों के मुताबिक अपने समर्थक उम्मीदवारों को प्रत्याशी बनाने की पैरवी में दोनों आमने सामने आ गए और जमकर तीखी नोकझोंक हुई. हालात इतने बिगड़ गए कि राहुल गांधी को खुद बीच बचाव के लिए उतरना पड़ा. साथ ही तीन सदस्यों की एक कमेटी का भी गठन किया गया, इसमें अहमद पटेल, अशोक गहलोत और वीरप्पा मोइली को शामिल हैं. मध्य प्रदेश में कांग्रेस के बारे में जग जाहिर है कि 15 सालों से शिवराज सिंह चौहान को नहीं हरा पाने की कांग्रेस की सबसे बड़ी वजह पार्टी बड़े नेताओं के बीच के मतभेद हैं. दिग्विजय खेमा अल, सिंधिया खेमा अलग तो कमलनाथ खेमा अलग. कम से कम इस बार कांग्रेस एकजुटता लाकर माहौल बनाने की कोशिश पूरी कोशिश में लगी थी. बुधवार रात चुनाव समिति की बैठक में जो हुआ उससे तो लगता है कि राहुल गांधी इन बड़े नेताओं की आपसी तल्खी कम करने में तरह विफल होते जा रहे हैं. अब देखना दिलचस्प होगा कि कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी दोनों राजाओं को साथ ला पाएंगे. साथ ला पाए तो ठीक नहीं तो अंदरूनी खेमेबाजी से पार्टी को नुकसान तो जरूर होगा.

कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई पर बीजेपी की चुटकी

कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई पर बीजेपी ने चुटकी ली है. बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ''कांग्रेस के भीतर लड़ाई चल रही है. पता चला है कि कल मध्यप्रदेश में टिकट को लेकर हाथापाई की नौबत आ गई. दिग्विजय सिंह को चिट्ठी लिखनी पड़ रही है.'' संबित ने कहा कि राहुल गांधी कंफ्यूज नेता हैं. देश को मोदी जी जैसा नेता चाहिए जो अपनी नीतियों और कामों में स्पष्ट हैं.

News Next

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले एक बार फिर राम मंदिर का मुद्दा गरमा गया है. सुप्रीम कोर्ट में नियमित सुनवाई जनवरी तक टलने के बाद एक बार फिर बहस छिड़ गई है. राम मंदिर मुद्दे को लेकर

राजस्थान और मध्य प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए सत्ताधारी बीजेपी और सरकार में वापसी की आस लगाए बैठी कांग्रेस आज उम्मीदवारों का ऐलान कर सकती है. दरअसल मध्य

Previous News

  जयपुर। मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने कहा कि विधानसभा आम चुनाव त्रुटि रहित, निष्पक्ष एवं पारदर्शिता के साथ कराने के लिए अधिकारी टीम भावना के साथ कार्य करें। आम

राजस्थान में कांग्रेस से गठबंधन टूटने के बाद बहुजन समाज पार्टी (BSP) सभी 200 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है. पार्टी ने बुधवार को अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करते

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

राजस्थान में किसकी सरकार आनी चाहिए ?