1984 सिख दंगा: सजा के एलान से सरकार खुश, ना मिले पीड़ितों को न्याय कांग्रेस ने इसकी पूरी कोशिश की- कानून मंत्री 

Nov 21,2018, 01:11 AM

नई दिल्ली / दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने 1984 के सिख विरोधी दंगे मामले में महिपालपुर इलाके में दो लोगों की हत्या के दोषी यशपाल को फांसी की सजा सुनाई थी. मामले में दोषी करार दिए गए नरेश सहरावत को उम्रकैद की सजा सुनाई गई. इस मामले पर आज बीजेपी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 35 साल में कांग्रेस पार्टी द्वारा योजनाबद्ध और सुनियोजित तरीके से इस बात की पूरी कोशिश की गई कि 1984 के नरसंहार के आरोपियों के खिलाफ कोई प्रमाणिक कार्यवाई नहीं हो. प्रसाद ने कहा कि इंदिरा गांधी की मौत के बाद राजीव गांधी के बरगद वाले बयान ने उत्तेजन फैलाने का काम किया. उन्होंने ये भी कहा कि कांग्रेस ने आज तक अपने आप को राजीव गांधी के बयान से अलग नहीं किया है. इंसानियत का तकाजा था कि न्याय मिलना चाहिए था. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी दवाब के बाद अपने बयान पर खेद जताया लेकिन राहुल गांधी सोनिय गांधी ने उस पर कुछ नहीं कहा. रविशंकर प्रसाद ने कहा, ''1984 के नरसंहार के मामले में कल दिल्ली के न्यायालय ने दो अपराधियों में से एक को फांसी और एक को उम्र कैद की सजा सुनाई है, इस फैसले से हमें संतोष है. आज देश को ये बताने की जरूरत है कांग्रेस की सरकार ने अपनो को बचाने के लिए जिनके अपने मारे गए उन्हें न्याय ना मिले, इसकी पूरी कोशिश की है. इंसानियत का तकाजा था कि न्याय मिलना चाहिए था.'' रविशंकर प्रसाद ने कहा, ''इंदिरा गांधी की हत्या के बाद उनकी पहली बरसी पर इंडिया गेट पर एक सभा हुई. इस में स्वर्गीय प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी ने अपने भाषण में कहा था कि जब बरगद का पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है. पहले ही दिन से भारत के प्रधानमंत्री ने यह संदेश दिया कि धरती हिलती है मतलब कुछ गलत नहीं हुआ. इससे गैरजिम्मेदार बयान नहीं हो सकता. मेरा स्पष्ट आरोप है कि कांग्रेस पार्टी ने आज तक उनके इस भाषण से अपने आप को अलग नहीं किया है.'' उन्होंने कहा कि राजीव गांधी का बयान जले पर नमक की तरह था. रविशंकर प्रसाद ने कहा, ''सिखों को न्याय दिलाने के लिए पहला कदम अटल बिहारी वाजपेयी ने उठाया था. उन्होंने रिटॉयर्ड जज नानावटी की अगुवाई में कमीशन बनाया था. हमारी सरकार 2004 में चली गई इसलिए फिर उस पर कोई काम नहीं हुआ. मोदी के नेतृत्व में जब दोबारा हमारी सरकार आई तब 2015 में हमने एसआईटी का गठन किया. एसआईटी ने ईमानदारी से काम किया, इसीलिए आज सजामिली है.'' रविशंकर प्रसाद ने कहा, ''पिछले 35 साल में कांग्रेस पार्टी द्वारा योजनाबद्ध और सुनियोजित तरीके से इस बात की पूरी कोशिश की गई कि 1984 के नरसंहार के आरोपियों के खिलाफ कोई प्रमाणिक कार्रवाई नहीं हो. राजीव गांधी के बयान ने उत्तेजना फैलाने का काम किया, वो प्रधानमंत्री थे. उनके बयान से संदेश गया कि इस मामले को ठंडे बस्ते में डालो.''

फैसले के बाद उड़ने वाली है सज्जन कुमार, टाइटलर की नींद: पीड़ित

1984 के सिख विरोधी दंगे में पिता समेत अपने परिवार के 11 लोगों को गंवाने वाली गंगा कौर ने कहा, “हम इस फैसले से निश्चित तौर पर खुश हैं. हां यह और अच्छा होता, अगर दूसरे व्यक्ति को भी फांसी की सजा मिलती. लेकिन फिर भी हम पूरे दिल से अदालत के फैसले का स्वागत करते हैं. उन्होंने कहा, “वैसे भी यह सब छोटी मछलियां है. अब हम मगरमच्छ के फंसने का इंतजार कर रहे हैं. हमें उम्मीद है कि यह इसी सरकार के शासन में मुमकिन है.”

 

News Next

भीखाराम बोस शेरगढ.@जोधपुर : डिमांड राशि वसूल कर कनेक्शन देना भूल गया विभाग ,पांच परिवारो ने पांच साल पहले किये थे आवेदन , चुनावो मे नेता जनता के सामने बडे बडे वादे कर जनता को

जयपुर । भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दिन में सपने देख रहे है। लेकिन वर्ष 2014 से देश का चुनावी इतिहास को देख लो, कांग्रेस पार्टी

Previous News

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. सीपी जोशी ने बीजेपी पर राम मंदिर के मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि

किसान और आदिवासी लोक संघर्ष समिति के बैनर तले करीब 30 हजार किसानों अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन करते हुए मुंबई के नजदीक ठाणे पहुंच गए हैं. किसान ठाणे से मुंबई के लिए रवाना हो

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

राजस्थान में किसकी सरकार आनी चाहिए ?