मोदी पहुंचे कांग्रेस के गढ़ रायबरेली, कोच फैक्ट्री का किया निरीक्षण

Dec 16,2018, 11:12 AM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर वायुसेना के विशेष विमान से लैंड करने के बाद तीन हेलीकॉप्टर के साथ रायबरेली पहुंचे हैं। मार्डन कोच फैक्ट्री में वह संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र को 1100 करोड़ की सौगात देने के साथ जनसभा को भी संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीधे मार्डन कोच फैक्ट्री का रुख किया। उन्होंने कोच फैक्ट्री का निरीक्षण किया। इसके बाद यहां पर दो हजार रेल डिब्बों की उत्पादन क्षमता के लिए विस्तारीकरण कार्य का शुभारंभ करने के साथ कोच फैक्ट्री के इस वित्तीय वर्ष में उत्पादित 900वें रेल डिब्बे व हमसफर रैक को राष्ट्र को समर्पित किया। उनके साथ रेल मंत्री पीयूष गोयल भी हैं। रायबरेली में उनका पहला हेलीकॉप्टर 10.20, दूसरा 10:22 पर तथा तीसरा 10.23 पर रेल कोच के कारखाना परिसर में बने हेलीपैड पर पहुंचा। वहां पर उनकी अगवानी तथा स्वागत किया गया। उधर सभा स्थल पर जाने के लिए यहां पर जनसैलाब उमड़ा है। पांडाल के सभी प्रवेश द्वारों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था होने के कारण उत्साहित कार्यकर्ताओं और सतर्क सुरक्षाकर्मियों के बीच कई बार तकरार भी हुई। सुरक्षा बलों ने काली जैकेट पहने लोगो को वापस लौटाया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी कुर्सी संभालने के बाद आज पहली बार कांग्रेस के सनातन गढ़ रायबरेली में चुनावी शंखनाद करेंगे। पीएम मोदी के साथ यहां पर आधा दर्जन केंद्रीय मंत्री के साथ उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक व सीएम योगी आदित्यनाथ भी है। सोनिया गांधी और उनसे पहले नेहरू-गांधी परिवार का राजनीतिक दुर्ग रायबरेली का पीएम नरेंद्र मोदी का यह पहला दौरा होगा। पीएम नरेंद्र मोदी रायबरेली को लगभग 1100 करोड़ रुपये की सौगात देंगे। कांग्रेस का गढ़ रायबरेली को माना जाता रहा है। बीते साढ़े चार सालों में भाजपा ने इसे दरकाने की हर कोशिश की। उसे हल्की सफलता भी मिली। छह महीने पूर्व गांधी परिवार के करीबी कुनबे को साथ जोडऩे में सफल हुई। भाजपा अब आक्रामक मुद्रा में है। प्रदेश की सत्ता भी इस जिले पर पैनी निगाह रखे है। पांच राज्यों के आशा विपरीत चुनाव परिणाम के बाद पीएम जनसभा में जब बोलेंगे, तो कांग्रेस ही उनके निशाने पर होगी।प्रधानमंत्री मोदी का यह दौरा राजनीति के लिहाज से भी बहुत अहम है प्रदेश की इस लोकसभा सीट को गांधी परिवार और कांग्रेस का गढ़ कहा जाता है। यहां की सांसद यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी हैं और कभी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी इस क्षेत्र से चुनाव लड़ चुकी हैं। यहां की ही जनता ने एक बार इंदिरा गांधी को हरा भी दिया था। उसके बाद से सिर्फ दो बार ही यह सीट कांग्रेस के खाते में नहीं आई। माना जा रहा है कि पीएम मोदी आज सोनिया गांधी के गढ़ से उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव का शखंनाद करेंगे। वहीं क्षेत्र की जनता को उम्मीद है कि वह इस दौरान किसी बड़ी योजना का ऐलान भी कर सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील पर जो आईना दिखाया है, भगवा खेमा उससे उत्साहित है। चुभने वाले सवालों की झड़ी लगाते हुए, रायबरेली के उन बंद कल-कारखानों की भी गिनती गिनाई जाएगी जिसका कोई पुरसाहाल नहीं है। हां, इन सबके बीच विकास की नई इबारत लिखने की भी तैयारी है। ताकि, संदेश साफ जाए कि भाजपा अपने नारे, 'सबका-साथ सबका विकास' को कमजोर नहीं पडऩे देगी। जिले में लालगंज का आधुनिक रेल डिब्बा कारखाना कई नई चीजें देखेगा। सबसे पहले तो वह देखकर मगन होगा कि भारत के प्रधानमंत्री पहली बार उसके आंगन में आ रहे हैं। इसी आधुनिक रेल डिब्बा कारखाना की जुलाई 2007 में आधार शिला रखी गई थी। इसके बाद 149 महीने बीत चुके हैं। इस दौरान रेलमंत्री समेत कई वीवीआपी यहां आए। मगर, पीएम मोदी के आने का यह पहला मौका होगा। इसी वर्ष 18 मार्च को रेलमंत्री पीयूष गोयल, सात सितंबर को कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी यहां का कामकाज देखने आ चुके हैं। प्रधानमंत्री का यहां आना महत्वपूर्ण है। इससे यह संदेश जाएगा कि भारत उसके कारखानों में तैयार डिब्बों के निर्यात के लिए प्रतिस्पर्धी बाजार में उतर रहा है। उनका यह दौरा इस लिहाज से काफी अहम है कि भारत की उच्च गुणवत्ता के रेल डिब्बों के विनिर्माण और निर्यात बाजार पर नजर है। रेलवे ने कुछ महीने पहले ही प्रस्ताव दिया था कि वह ऐसे देशों के लिए बुलेट ट्रेन के डिब्बे बनाने और निर्यात करने को इच्छुक है, जो तेज रफ्तार गलियारे का निर्माण कर रहे हैं। कारखाने को लेकर पहले ही कई देश अपनी रूचि दिखा चुके हैं। कोरिया, जापान, जर्मनी, चीन और ताइवान के अधिकारी कारखाने का दौरा कर चुके हैं। रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि कई देश कम उत्पादन लागत की वजह से भारत का इस्तेमाल विनिर्माण के प्रमुख केंद्र के रूप में कर सकते हैं। माडर्न कोच फैक्टरी (एमसीएफ)में पहली बार पूरे डिब्बे का विनिर्माण रोबोट ने किया है। एक किलोमीटर लंबी उत्पादन लाइन में रोबोट को समानांतर तौर पर काम में लगाया गया है, जहां वे डिब्बों पर कुछ-कुछ काम कर रहे हैं। वर्तमान में 70 रोबोट काम में लगे हुए हैं। यह पूरी तरह से 'मेक इन इंडिया' है। इसके अलावा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राजमार्ग 232 के पुनर्निर्मित 133 किलोमीटर लंबे रायबरेली मार्ग को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। यह मार्ग बुंदेलखंड, चित्रकूट, लखनऊ और उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल क्षेत्र के बीच एक महत्वपूर्ण संपर्क मार्ग है। भाजपा आम चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस के शीर्ष नेताओं को उनके घर में ही घेरने की रणनीति पर तेजी से काम कर रही है। यही कारण है कि अमेठी में केंद्रीय नेतृत्व की सक्रियता के बाद बीते छह महीनों में कई बार भाजपा का शीर्ष नेतृत्व यहां आ चुका है। 21 अप्रैल को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शहर में रैली को संबोधित कर चुके हैं। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आए थे। तबसे पार्टी नेताओं की सक्रियता बनी हुई है। पार्टी के प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने बताया कि रायबरेली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विकास की अलख जगाने आ रहे हैं। इससे यह साफ है कि भाजपा अपने विकास के एजेंडे पर ही पूरी मजबूती से चल रही है। भारतीय जनता पार्टी पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव में पार्टी हार से विचलित न होते हुए पूरा फोकस उत्तर प्रदेश पर कर रही है।  उत्तर प्रदेश से भाजपा को जहां 2014 में उसे 71 सीटों पर जीत मिली थी। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी आज पहली बार रायबरेली दौरे पर पहुंच रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां एक जनसभा को संबोधित भी करेंगे। देश की सियासत के लिहाज से रायबरेली सदस्यीय सीट हमेशा से ही महत्वपूर्ण रही है। गांधी परिवार की इस सीट को अपने खाते में करने का सपना भाजपा और संघ का लंबे समय से रहा है।

पौने दो घंटे जिले में रहेंगे प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री करीब पौने दो घंटा रायबरेली में रहेंगे। 25 मिनट तक वे डिब्बा बनाने वाली फैक्ट्री का निरीक्षण करेंगे। इसी दौरान 900वें कोच को हरी झंडी दिखाएंगे। इसके बाद 10.30 बजे आवासीय परिसर में रैली स्थल पर पहुंचेंगे। लोकार्पण और शिलान्यास के विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे। इसके बाद जनसभा को संबोधित करेंगे। जनसभा में राज्यपाल रामनाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ, केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह, केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति व ग्राम्य विकास मंत्री महेंद्र सिंह भी शामिल होंगे। इस सभा के बाद 11.35 बजे उनका प्रयागराज प्रस्थान करने का कार्यक्रम है। आधुनिक रेलकोच कारखाना लालगंज में प्रधानमंत्री के जनसभा स्थल को केसरिया रंग से सजाया गया है। पर्दे जनसभा स्थल पर ही सिले गए हैं। मंच के ऊपर का शेड़ तैयार है। मंच के तीनों तरफ से केसरिया पर्दे गए हैं। यहां पर जनसभा वाली भीड़ को प्रधानमंत्री दिखाई दे इसके लिए चालीस फीट लम्बे एंव साठ फीट चैड़े मंच के पीछे तीस फीट लम्बी और दस फीट चैड़ी एलईडी गई है। इसके अलावा दर्शकों को कोई समस्या न हो इसके लिए मंच के दोनों तरफ 16 फीट लम्बी एवं दस फीट चैड़ी एलईडी लगी है।

News Next

मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने एक बार फिर कश्मीरी मुसलमानों को भड़काने के लिए वीडियो जारी किया है. इस वीडियो से पाकिस्तान में बैठे आतंक के आका हाफिज सईद की साजिश का

राजधानी जयपुर के इतिहास के प्रतीक अल्बर्ट हॉल पर सोमवार को होने वाला प्रदेश की नई गहलोत सरकार का शपथ ग्रहण समारोह भव्य होगा. करीब एक घंटे के इस आयोजन के लिए अल्बर्ट हॉल के

Previous News

राजस्थान की राजधानी जयपुर में तीन जगहों पर बम होने की सूचना मिलने पर सनसनी फैल गई. पुलिस व बम निरोधक दस्ते ने तत्काल सभी जगहों को खाली कराया. सघन जांच के बाद पुलिस ने बताया कि

प्रदेश में आजादी के बाद पहली बार राजधानी जयपुर के ह्रदय स्थल अल्बर्ट हॉल पर किसी नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह होगा. इससे पहले नई सरकारों के शपथ ग्रहण समारोह राजभवन में ही

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

राजस्थान में किसकी सरकार आनी चाहिए ?