कुछ इस तरह हुआ है राजस्थान में मंत्रियो के बीच विभागों का वितरण

Dec 27,2018, 14:12 PM

जयपुर। लंबे इंतजार के बाद बुधवार देर रात अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों के विभागों का ऐलान कर दिया गया। अशोक गहलोत ने जहां वित्‍त, गृह, न्‍याय और आबकारी जैसे महत्‍वपूर्ण विभाग अपने पास रखे हैं।

राज्य के मंत्रियों के विभागों के बंटवारे के दौरान काफी सावधानी बरती गई है। मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने पास वित्त और गृह मंत्रालय समेत 9 मंत्रालय अपने पास रखा जबकि उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को लोक निर्माण, पंचायती राज, ग्रामीण विकास मंत्रालय और विज्ञान-तकनीकी समेत कुल 5 मंत्रालयों का जिम्मा सौंपा गया है।

अशोक गहलोत , मुख्यमंत्री : वित्त, आबकारी, आयोजना, नीति आयोजन, कार्मिक, सामान्य प्रशासन, राजस्थान राज्य अन्वेषण ब्यूरो, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, गृह मामलात और न्याय विभाग।

सचिन पायलट, उपमुख्यमंत्री : सार्वजनिक निर्माण, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, विज्ञान व प्रौद्योगिकी और सांख्यिकी।

केबिनेट मंत्री

बीडी कल्ला : ऊर्जा, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, भू-जल, कला, साहित्य, संस्कृति और पुरातत्व

शांति कुमार धारीवाल : स्वायत्त शासन, नगरीय विकास एवं आवासन, विधि एवं विधिक कार्य और विधि परामर्शी कार्यालय, संसदीय मामलात

परसादी लाल : उद्योग और राजकीय उपक्रम

मास्टर भंवरलाल मेघवाल : सामाजिक न्याय—अधिकारिता, आपदा प्रबंधन एवं सहायता

लालचंद कटारिया : कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य

रघु शर्मा : चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं (ईएसआई) और सूचना व जनसंपर्क

प्रमोद भाया: खान, गोपालन

विश्वेंद्र सिंह:पर्यटन, देवस्थान

हरीश चौधरी: राजस्व, उपनिेवेशन, कृषि सिंचित क्षेत्रीय विकास एंव जल उपयोगिता

रमेश चंद मीणा: खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले

उदयलाल आंजना: सहकारिता, इंदिरा गांधी नहर परियोजना

प्रताप सिंह खाचरियावास: परिवहन, सैनिक कल्याण

सालेह मोहम्मद: अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ और जन अभियोग निराकरण

राज्य मंत्री

गोविंद सिंह डोटासरा: शिक्षा—प्राथमिक एंव माध्यमिक शिक्षा(स्वतंत्र प्रभार), पर्यटन, देवस्थान

ममता भूपेश: महिला एंव बाल विकास(स्वतंत्र प्रभार), जनअभियोग निराकरण, अल्पसंख्यक मामलात, वक्फ

अर्जुन सिंह बामनिया: जनजाति क्षेत्रीय विकास(स्वतंत्र प्रभार), उद्योग राजकीय उपक्रम

भंवर सिंह भाटी: उच्च शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), राजस्व उपनिेवेशन कृषि सिंचित क्षेत्रीय विकास एवं जल उपयोगिता

सुखराम विश्नोई: वन विभाग (स्वतंत्र प्रभार), पर्यावरण विभाग (स्वतंत्र प्रभार), खाद्य-नागरिग आपूर्ति, उपभोक्ता मामले

अशोक चांदना: युवा मामले-खेल (स्वतंत्र प्रभार), कौशल-नियोजन व उद्यमिता (स्वतंत्र प्रभार), परिवहन, सैनिक कल्याण

टीकाराम जूली: श्रम विभाग (स्वतंत्र प्रभार), कारखान व बॉयलर्स निरीक्षण (स्वतंत्र प्रभार), सहकारिता, इंदिरा गांधी नहर परियोजना

भजनलाल जाटव: गृह रक्षा, नागरिक सुरक्षा (स्वतंत्र प्रभार), मुद्रण-लेखन सामग्री विभाग (स्वतंत्र प्रभार), कृषि विभाग, पशुपालन, मत्स्य।

राजेंद्र सिंह यादव: आयोजना जनशक्ति(स्वतंत्र प्रभार), स्टेट मोटर गैराज विभाग (स्वतंत्र प्रभार), सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग, आपदा प्रबंधन व सहायता

डॉ. सुभाष गर्ग: तकनीकी शिक्षा विभाग (स्वतंत्र प्रभार), संस्कृत शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार), चिकित्सा शिक्षा व स्वास्थ्य, आयुर्वेद व भारतीय चिकित्सा, चिकित्सा व स्वास्थ्य सेवाएं ईएसआइ, सूचना व जनसंपर्क

News Next

जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह को गुरूवार को यहां राजभवन में उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने निमंत्रण पत्र भेंट कर उन्हें कुम्भ में आने का

रायपुर : छत्तीसगढ़ में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हो गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वित्त, ऊर्जा, जनसंपर्क समेत वो सभी विभाग अपने पास रखे हैं, जो पूर्व मुख्यमंत्री

Previous News

इंटरनेशनल गोल्फर शूटर ज्योति सिंह रंधावा गिरफ्तार किए गए हैं. वन विभाग की टीम ने बहराइच के कतर्नियाघाट में अवैध शिकार करते हुए गिरफ्तार किया है. रंधावा के पास से एक .22 राइफल

जयपुर। डिप्टी सीएम सचिन पायलट शासन सचिवालय में मुख्य भवन के ओल्ड सीएमओ में बैठकर अपना कार्यभार संभालना पड़ा। उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट गुरुवार सुबह सचिवालय पहुंचे। यहां

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

राजस्थान में किसकी सरकार आनी चाहिए ?