लिव-इन रिलेशनशिप में सहमति से बने शारीरिक सम्बन्ध नहीं माना जाएगा बलात्कार- सुप्रीम कोर्ट

Jan 03,2019, 20:01 PM

भारतीय सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि अगर लिव-इन रिलेशनशिप में पुरुष और महिला के बीच सहमति से शारीरिक सम्बन्ध बने और बाद में पुरुष शादी से मुक़र जाता है तो इसे बलात्कार नहीं कहा जा सकता। सुप्रीम कोर्ट ने यह फ़ैसला बुधवार को एक मामले की सुनवाई करते हुए दिया।

महाराष्ट्र की एक नर्स ने अदालत में अपने लिव-इन पार्टनर पर बलात्कार का आरोप लगाते हुए एफ़आईआर कराई थी। दरअसल, लिव-इन में रहने के बाद दोनों के बीच शादी को लेकर कुछ वादे हुए थे, लेकिन बाद में पुरुष अपने वादों से पीछे हट गया, जिसके बाद ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया।

News Next

उच्चतम न्यायालय पश्चिम बंगाल में भाजपा को रथयात्रा की अनुमति नहीं देने के कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ पार्टी की याचिका पर सात जनवरी को सुनवाई करने पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पंजाब के गुरदासपुर में रैली की। पीएम मोदी ने इस दौरान लोगों को गुरदासपुर की उपलब्धियों के बारे में बताया।2019 के लोकसभा चुनाव के लिए इस रैली

Previous News

पटना: बिहार में बर्ड फ्लू के बढ़ते मामलों से सरकार काफी सतर्क हो गई है। राज्य में जांच टीम को हाई अलर्ट पर रखा गया है। वहीं केंद्र से भी एक टीम 4 जनवरी को बिहार दौर पर आ रही

गुरुवार को केरल के सबरीमाला मंदिर में दो महिलाओं के दर्शन करने के बाद से हिंदू संगठनों ने कई महिलाओं और मीडियाकर्मियों पर हमले किए है। यह विरोध प्रदर्शन हिंसक हो

Thought Of The Day

"साहस मानवीय गुणों में प्रमुख है क्योंकि ….ये वो गुण है जो बाकी सभी गुणों की गारंटी देता है "

विंस्टन चर्चिल


राशिफल
  • Pisces (मीन)

  • Aquarius (कुंभ)

  • Capricorn (मकर)

  • Sagittarius (धनु)

  • Scorpio (वृश्चिक)

  • Libra (तुला)

  • Virgo (कन्या)

  • Leo (सिंह)

  • Cancer (कर्क)

  • Gemini (मिथुन)

  • TAURUS (वृष)

  • ARIES (मेष)

poll

राजस्थान में किसकी सरकार आनी चाहिए ?