Jeet Mal Kumawat @ 6 करोड़ नौकरीपेशा लोगों के लिए जरूरी सूचना है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने एक नियम में बदलाव किया है, जिससे नौकरीपेशा के लिए मुश्किल आ सकती है. दरअसल, अब कर्मचारी भविष्य निधि (EPFO) के साथ आधार (Aadhaar) को 1 जून 2021 से जोड़ना अनिवार्य हो गया है. यानी अब PF खाते के UAN (Universal account number )को Aadhaar कार्ड से जोड़ना जरूरी होगा. EPFO ने Social Security code 2020 के सेक्‍शन 142 में बदलाव किया है. इससे ECR फाइलिंग प्रोटोकॉल बदला गया है. इसकी जानकारी ट्वीट के जरिए दी गई है.

आधार लिंक नहीं होने से होगा नुकसान

इस नियम के बाद, अब अगर कोई ईपीएफ खाता खाताधारक (Epfo account holders) के आधार नंबर से जुड़ा नहीं होगा तो ऐसे ईपीएफ खाते में नियोक्ता का योगदान जमा नहीं होगा. सरल शब्दों में कहे तो, अगर आपके खाते से आधार लिंक नहीं है तो EPFO कर्मचारी के खाते में आने वाला कंपनी का योगदान रोक सकता है. इसलिए अगर आपने पीएफ एकाउंट में आधार नंबर नहीं दिया है, तो यह काम जल्‍दी पूरा कर लें. ईपीएफओ ने यह स्पष्ट किया कि नियोक्ता के ईपीएफ योगदान को उन ईपीएफ खाते में जमा नहीं किया जाएगा जिनका यूएएन आधार सत्यापित नहीं है.

जानें क्या कहा है संगठन ने?

ईपीएफओ ने नए दिशानिर्देश के बारे में सूचित करते हुए कहा है कि प्रिय नियोक्ता, सामाजिक सुरक्षा संहिता, 2020 की धारा 142 के लागू होने के साथ, ECR को केवल उन सदस्यों के लिए दाखिल करने की अनुमति दी जाएगी, जिनके आधार नंबर हैं. 01.06.2021 से यूएएन के साथ आधार जुड़ा होना चाहिए. ईपीएफओ ने आगे कहा, “नियमानुसार, कृपया सभी अंशदायी सदस्यों (contributory members)के संबंध में आधार सीडिंग सुनिश्चित करें ताकि वे ईपीएफओ की निर्बाध सेवाओं का लाभ उठा सकें और किसी भी असुविधा से बच सकें.

जानें आधार को ईपीएफ से कैसे लिंक करें?

<< सबसे पहले आप EPFO की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.

<< इसके लिए इस लिंक पर क्लिक करें, https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/

<< इसके बाद अब अपने UAN और पासवर्ड डालकर लॉग-इन करें.

<< फिर अब Manage सेक्शन में KYC विकल्प पर क्लिक करना होगा.

<< अब आपके सामने EPF अकाउंट के साथ आधार को लिंक करने के लिए कई दस्तावेज दिखेंगे.

<<आप Aadhaar विकल्प का चयन करें और अपना आधार नंबर और आधार कार्ड पर दर्ज अपने नाम को टाइप कर सर्विस पर क्लिक करें.

<< इसके बाद आपके द्वारा दी गई जानकारी सुरक्षित हो जाएगी और आपका आधार UIDAI के डाटा से वेरीफाई हो जाएगा.

<< आपके KYC दस्तावेज सही होने पर आपका आधार आपके EPF अकाउंट से लिंक हो जाएगा.