हमारे शरीर को स्वस्थ और सेहतमंद रखने के लिए हर दिन योग करना जरूरी होता है. हर साल 21 जून का दिन अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन से जुड़ी खास बात ये है कि इस दिन को 21 जून को मनाने की शुरूआत भारत से हुई थी. पूरे देश भर में लोग आज के दिन योग करते हैं. वहीं पहली बार ये दिन 21 जून 2015 को मनाया गया था. योग को मनुष्य के जीवन के लिए काफी लाभकारी माना गया है. योग करने से मनुष्य कई तरह की बीमारियों से बच सकता है, और स्वस्थ शरीर के साथ लंबी उम्र भी पा सकता है.

योग दिवस के मौके पर देश में जगह जगह से भारतीय सैनिकों ने योग कर इस दिन को मनाया है. इस मौके पर भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने लद्दाख में पैंगोंग त्सो झील के किनारे योग किया है. वहीं अरुणाचल प्रदेश पशु प्रशिक्षण स्कूल लोहितपुर के आईटीबीपी कर्मियों ने घोड़ों के साथ योग किया है.

इतना ही नहीं भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के जवानों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर लद्दाख में 18,000 फीट की ऊंचाई पर योग किया. साथ ही जम्मू में सीआरपीएफ जवानों ने भी योगाभ्यास किया है. इसी के साथ ही आईटीबीपी के जवानों ने लद्दाख में एक बॉर्डर आउट पोस्ट के पास 15,000 फीट की ऊंचाई पर भी योग किया है.

इस साल 2021 में योग दिवस की थीम ‘योगा फॉर वेलबिइंग’ रखी गई है. जबकि पिछले साल 2020 में जब कोविड ने सबको बंधक बना कर घर पर रहने के लिए मजबूर किया था, तब इसकी थीम ‘घर में रहकर योग करें’ रखी गई थी. हर साल 21 जून का दिन दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाता है, लेकिन 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने मिल कर फैसला लिया था कि हर साल 21 जून का दिन अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाएगा.