जयपुर. बस्सी उपखंड के भूडला गांव में इन दिनों जलसंकट छाया हुआ है. यहां बोरिंग होते हुए भी लोगों के कंठ सूख रहे हैं. आलम यह है कि कुछ दिन पहले बोरिंग में पत्थर फंस गया, जिसके  चलते अब मोटर अंदर नहीं जा रही है. करीब 10 दिन से गोपालजी के मंदिर के पास लगी 20000 लीटर क्षमता की टंकी खाली पड़ी है. लोग यहां बेबस पानी के लिए आते हैं, और निराश होकर लौट जाते हैं. यह बोरिंग रोज करीब 1000 की आबादी की प्यास बुझा रहा था, मगर अब खराब होने का तमगा लेकर खड़ा है. ऐसा नहीं है कि जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं है, मगर सुनवाई नहीं कर रहे हैं. यहीं नहीं जनप्रतिनिधि अधिकारियों पर और अधिकारी जनप्रतिनिधियों पर टाल रहे हैं. मजबूरन लोगों को पानी के लिए करीब एक किमी का चक्कर लगाना पड़ रहा है. आमजन के अलावा जानवरों के लिए भी पानी की समस्या बनी हुई है.  बार-बार समस्या के बारे में बताने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने पर आमजन में भारी रोष है. उनका आरोप है कि विधायक-सांसद भी यहां की जनता को सिर्फ वोट बैंक समझते हैं, इसके बाद कभी भी आकर नहीं देखते. लोगों ने कहा विधायक और सांसद के पास शिकायत पहुंचाने के अलावा उनको सोशल मीडिया के माध्यम से भी बताया, मगर नहीं सुन रहे.  इस मामले को जब ग्राम विकास अधिकारी के समक्ष अवगत कराया तो उन्होंने कहा आप सरपंच से बात कीजिए, पंचायत इसमें कुछ नहीं करेगी. जनता इसको लेकर जब सरपंच के पास पहुंची तो उन्होंने इस पर गौैर करना ही मुनासिब नहीं समझा और पीडि़तों को चलता कर दिया.