कोलकाता पश्चिम बंगाल से सांसद और तृणमूल कांग्रेस नेता नुसरत जहां की शादी का मामला लोकसभा तक पहुंच गया है. भारतीय जनता पार्टी की सांसद संघमित्रा मौर्य ने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को चिट्ठी लिखी है, जिसमें उन्होंने नुसरत जहां की लोकसभा सदस्यता रद्द करने की मांग की है.

लोकसभा अध्यक्ष को भेजे गए पत्र में बदायूं सांसद ने नुसरत जहां पर अमर्यादित आचरण करने का आरोप लगाया है. कहा है कि नुसरत जहां ने लोकसभा सदस्य के रूप में शपथ के दौरान अपने नाम का उच्चारण नुसरत जहां रूही जैन के रूप में किया था. लोकसभा की वेबसाइट पर नुसरत जहां के पति का नाम निखिल जैन लिखा है.

हिंदू और क्रिश्चियन रीति-रिवाज से हुई थी शादी:
दोनों की शादी हिंदू और क्रिश्चियन रीति-रिवाज से हुई थी. नुसरत और निखिल ने रिसेप्शन का आयोजन कोलकाता के आईटीसी रॉयल होटल में किया था. जहां राजनीति और फिल्मी दुनिया समेत दूसरे क्षेत्रों की कई बड़ी हस्तियां पहुंचीं थीं. साल 2020 में जब दोनों की पहली सालगिरह थी तब नुसरत और निखिल ने एक दूसरे को मुबारकबाद दी थी.

लेकिन दोनों का यह विवाह दो वर्षों तक भी नहीं चल पाया इस बार दूसरी सालगिरह से पहले ही दोनों के अलग होने की खबरें चर्चा में आ गईं. नुसरत जहां ने शादी को लेकर कहा था कि उनकी शादी तुर्की मैरिज एक्ट के तहत हुई थी. इसलिए ये भारत में मान्य नहीं है. उन्होंने निखिल पर तमाम आरोप लगाते हुए कहा था, कि उनका संबंध एक लिव इन रेलेशनशिप की तरह है. इसलिए तलाक का आवेदन देने की भी जरूरत नहीं है. कहा था कि जब भारत में शादी मान्य ही नहीं है, तो तलाक कैसा, सिर्फ यही नहीं, नुसरत जहां ने शादी की सभी तस्वीरें भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से डिलीट कर दी थीं.