जयपुर. राजधानी जयपुर में शुक्रवार को 1 दिन में एक लाख से अधिक कोरोना टीकाकरण का रिकॉर्ड तो बन गया. लेकिन जयपुर के झोटवाड़ा क्षेत्र में कांटा चौराहा स्थित सरकारी डिस्पेंसरी में टीकाकरण ना होने से लोगों का विरोध झेलना पड़ रहा है. यहां सुबह 6 बजे से महिला पुरुष टीका लगवाने के लिए कतार में खड़े हो गए सुबह 8 बजे तक करीब 400 से अधिक लोगों की लंबी कतार लग गई. डिस्पेंसरी के चिकित्सक प्रभारी राजेंद्र चौधरी व अन्य स्टाफ सुबह जैसे ही डिस्पेंसरी पहुंचे तो भीड़ व लंबी कतार देखकर हैरत में पड़ गए. इस दौरान कुछ लोगों ने टीका लगवाने के लिए टोकन मांगे तो डिस्पेंसरी प्रभारी ने सोमवार को टीकाकरण ना होने की बात कही इस पर कतार में लगे लोगों ने विरोध जताते हुए कहा कि शुक्रवार को वे टीका लगवाने आए थे. और टोकन होने के बावजूद भी उन्हें टीका नहीं लगवाने दिया लोगों का विरोध देख डिस्पेंसरी के चिकित्सक व अन्य स्टाफ ने लोगों को समझाने का काफी प्रयास किया.लेकिन लोग नहीं माने इस कारण चिकित्सक प्रभारी राजेंद्र चौधरी ने झोटवाड़ा थाना में फोन कर डिस्पेंसरी के बाहर पुलिस जाब्ते की मांग करी मौके पर झोटवाड़ा थाना अधिकारी विक्रम सिंह राठौड़ व अन्य पुलिसकर्मी ने डिस्पेंसरी के बाहर जमा लोगों की भीड़ को समझाकर घरों की ओर जाने के लिए कहा और कुछ ही देर में भीड़ को वहां से हटाया गया. साथ ही डिस्पेंसरी के बाहर कुछ पुलिसकर्मी भी तैनात किए गए.

चिकित्सा प्रभारी मीडिया से बातचीत के दौरान हुए भावुक:
इस दौरान चिकित्सा प्रभारी मीडिया से बातचीत के दौरान भावुक को गए उन्होंने कहा कि डॉक्टरों को भगवान नहीं समझे तो कम से कम इंसान तो समझे हम भी इंसान हैं. इस कोरोना काल में गर्मी की तेज धूप को सहन करते हुए पीपीई किट पहनकर और मुंह पर डबल मास्क लगाकर कई घंटों तक लगातार कोरोना संक्रमण से बचते हुए अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं.फिर भी कई लोग हैं. जो हमें समझने की कोशिश नहीं करते हैं.

गाइडलाइन की उड़ी धज्जियां:
झोटवाड़ा कांटा डिस्पेंसरी के बाहर सोमवार सुबह लंबी लाइन नजर आई.जानकारी के अभाव के कारण लोगों को लगा कि आज भी वैक्सीन लगाई जाएगी इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की सरेआम धज्जियां उड़ती नजर आई लोग धूप से बचने के लिए छांव में समूह में बैठकर बिना मास्क के एक दूसरे से बातें करते नजर आए.